भ्रूण हत्या वाला हरियाणा यू ट्यूब पर लड़कियों का डांस खूब देखता है

भले ही हरियाणा कोख में बेटियों को मारने के लिए कुख्यात हो लेकिन लड़कियों का डांस देखने का शौक हरियाणा में...

जो किसान मर गए वो कांग्रेसी थे, जो बचे हैं वो अपनी पार्टी तय कर लें

हैरानी होती है। किसानों के मसले पर राजनीति नहीं होनी चाहिए लेकिन राजनीति के सिवा कुछ हो भी नहीं रहा है।...

आपको साईकिल चलाने में शर्म आती और आप पर्यावरण दिवस मनाते हैं, छी छी।

जरा याद करिए कि आपने पिछली बार साईकिल कब चलाई थी। नहीं याद आ रहा। चलिए छोड़िए। पर्यावरण दिवस तो मनाया...

सुकमा को बचा लीजिए, हमारे जवान भी बच जाएंगे

सुकमा में 25 जवानों की शहादत की खबर को यूं ही सुन कर भूल जाना संभव नहीं होता। आप इंसानी रिश्तों...

वक्त धंधे मातरम का है और लोग वंदे मातरम पेरे जा रहें हैं, पगला गए हैं क्या?

पियूष पांडे की एक पुस्तक है धंधे मातरम। पता नहीं इस किताब के अंदर क्या लिखा है लेकिन बाहर जो भी...
video

बात मुद्दों की भी तो होनी चाहिए…

पत्रकारिता जीवन का एक बड़ा हिस्सा उत्तराखंड में बीत गया। इस दौरान कुछ बातें जो देश की राजनीति के बारे में...

सियासत के लिए उर्वरा भूमि पर नई उपज हैं अखिलेश यादव, खाद पानी के साथ, अभी लहलहाते रहेंगे।

उत्तर प्रदेश ने जिस क्षेत्र में सबसे अधिक विकास किया है वो है राजनीति। साल दर साल यूपी की जमीन...

माफ करना बिटिया रानी, हमारे पास रॉकेट है लेकिन एंबुलेंस नहीं

एक तरफ सोमवार को आंध्रप्रदेश के श्री हरिकोटा से पीएसएलवी सी – 35 की सफल लांचिंग की तस्वीरें आईं तो इसके...

बाप के कांधे पर बेटे की लाश और स्क्रैमजेट इंजन वाला प्रगतिशील भारत

सटीक तो नहीं पता है लेकिन शायद दुनिया में तीसरे या चौथे नंबर की अर्थवस्वस्था वाले...

कबीर के बहाने काशी में हिंदुओं की आस्था से खेल तो नहीं रहे नरेंद्र मोदी, पूछना जरूरी है

सियासत अपने नफा नुकसान के लिए बड़ी महीन सी लकीरों को खाई में किस तरह बदल देती है ये समझना जरूरी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र...

इंदिरा का लगाया आपातकाल अब भी मौजूद है, रंग बदला है और नाम भी

आज सबसे पहले बात देश के लोकतांत्रिक इतिहास में काले धब्बे की तरह माने जाने वाले आपातकाल की। 25 जून 1975 की वो तारीख...

पहाड़ की इन बेटियों की कहानी हमें ताकत देती है, पढ़ेंगे तो शायद कमजोरियां हारेंगी

उत्तराखंड के पहाड़ बदस्तूर जारी पलायन से वीरान होते जा रहे हैं, वहां न रोजी-रोटी का कोई संसाधन है, न शिक्षा और चिकित्सा की...

हर चुनाव में प्रधानमंत्री झूठ का नायाब उदाहरण पेश करते हैं…

RAVISH KUMAR. तथ्यों को कैसे तोड़ा-मरोड़ा जाता है, आप प्रधानमंत्री से सीख सकते हैं. मैं इन्हें सरासर झूठ कहता हूं, क्योंकि यह खास तरीके से डिज़ाइन...

जिन्ना की तस्वीर हटा देने भर से देशभक्ति के तकाज़े पूरे नहीं होंगे, कुछ और मूर्तियां गिरानी होंगी

PRIYADARSHAN. मोहम्मद अली जिन्ना की वजह से देश दो हिस्सों में बंट गया. वे भारत विभाजन के गुनहगार हैं. उनकी मदद से अंग्रेजों ने...