Home भारत

भारत

देश की वो घटनाएं जो आप पर प्रभाव डालती हैं। जिन्हें एक अलग नजरिए से समझना भी जरूरी हो।

ऑक्सीजन की कमी से उनके बच्चे मरे थे, कैसे बताऊं कि देश बुलेट ट्रेन में बैठेगा?

अगर आप एक इंसान हैं तो बच्चों की मौतें आपको अंदर तक झकझोर कर रख ही देंगी। हो सकता है कि...

इंसान के बच्चे सड़क पर पैदा हो रहें हैं और अस्पतालों में मर रहें हैं लेकिन हम गाय बचा कर खुश हैं

दो घटनाएं हमारे देश के स्वास्थ सेवाओं की बदहाली की स्पष्ट नजीर हैं। एक खबर आई कि एक महिला ने सड़क...

इसी भारत में महिलाओं को माहवारी की छुट्टी भी मिलती है और यहीं सेनेटरी पैड भी मयस्सर नहीं

हम जिस दौर में जी रहे होते हैं उसे अपने ही अतीत से हमेशा बेहतर मानते हैं। ये एक साधारण सामाजिक...

बनियान पहन के प्लेटफार्म पर स्प्राइट की बोतल में हैंडपंप का पानी भरने की आदत छोड़ दो, बुलेट ट्रेन चलने वाली है

गैंग्स ऑफ वासेपुर देखे हैं? नहीं भी देखे तो क्या कर लेंगे। लेकिन शानदार, जबरदस्त तो सुने ही होंगे। नहीं भी सुने...

चुप रहिए, सरकार अगर भगवा हो तो बच्चियों से जिस्मफरोशी का आरोप धुल जाता है

चुप रहना हमने कब सीखा? तब जब हमने केंद्र में अपार बहुमत की सरकार बनाई या फिर तब जब हमने यूपी...

इंदिरा का लगाया आपातकाल अब भी मौजूद है, रंग बदला है और नाम भी

आज सबसे पहले बात देश के लोकतांत्रिक इतिहास में काले धब्बे की तरह माने जाने वाले आपातकाल की। 25 जून 1975...

अगर आप अब भी नहीं मानते कि चाय वाला मीडिया को चलाता है तो ये तस्वीर आपको देख लेनी चाहिए

याद है, हो सकता है न भी याद हो क्योंकि अब इसे बार बार दोहराने की फिलहाल जरूरत नहीं है। 2014...

वो महिला जो तीन तलाक की जंग जीत चुकी थी लेकिन राजीव गांधी ने उसे संसद में हरा दिया था

ये वाक्या सन 1978 का है। मध्य प्रदेश के एक वकील हुआ करते थे मोहम्मद अहमद खां। साहब हुजूर ने अपनी...

नाम क्या है तुम्हारा – आसिफ। अच्छा तो मुस्लिम हो….

 नाम -आसिफ, उम्र-25 बरस, शिक्षा-ग्रेजुएट पिता का नाम-अब्बास, उम्र 55 बरस, पेशा-पत्रकार मां का नाम-लक्ष्मी, उम्र 48 बरस, पेशा-पत्रकारिता की शिक्षिका जो नाम लिखे गये हैं, वे...

प्रकाश नामदेव ठाकरे : इतने हुए ‘मज़बूर’ कि ख़ुद्दार हो गए…

नाम है - प्रकाश नामदेव ठाकरे।  महाराष्ट्र के इतने महान संत कवि नामदेव एवं इतने बडे नेता के (बाल) ठाकरे के नामों के साथ...

अब मीडिया सरकार पर नहीं, सरकार मीडिया पर नजर रखती है, पढ़िए मास्टर स्ट्रोक वाले पुण्य प्रसून की कलम से

punya prasoon vajpayee/ agnivaarta.com
दिल्ली में सीबीआई हेडक्वार्टर के ठीक बगल में है सूचना भवन. सूचना भवन की 10वीं मंज़िल ही देश भर के न्यूज़ चैनलों पर सरकारी...

चुप रहिए, सरकार अगर भगवा हो तो बच्चियों से जिस्मफरोशी का आरोप धुल जाता है

चुप रहना हमने कब सीखा? तब जब हमने केंद्र में अपार बहुमत की सरकार बनाई या फिर तब जब हमने यूपी में एक आक्रामक...