आह भारत से वाह भारत

180

आह भारत से वाह भारत

बहुत कुछ लिखने की ज़रूरत नही है …भारत वाकई में एक ऐसा देश बनता जा रहा है जिसे पीछे मुड़कर शोक मनाने की आदत नही है…पुरी दुनिया तो आथिक मंदी से परेशान है और भारत अलमस्त है…एक सर्वे बताता है की भारत के लोग बहुत तेजी से आशावादी होते जा रहें….इस आशावादिता की दौड़ में भारत ने बड़ा मुकाम हासिक कर किया है….भारत के लोगों को उम्मीद है की अपना देश आर्थिक मंदी की चपेट से अगले एक साल में पूरी तरह बाहर हो जाएगा…अच्छा लगता है….ऐसे समाचार पढ़कर…पिछले साल का अंत बेहद दर्दनाक था…इस साल की शरुआत भी कम कष्टकारी नही थी …लेकिन अब लगता है सब ठीक हो जाएगा…जय हो भारत

SHARE
Previous articleकुछ बताएं
Next article

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here